Go and get the complete details about the upcoming Big Movie
  • Bahubali 2 Movie
  • Bahubali 2 Full Movie
  • Friendship Day Poem For Best Friend In Hindi, Happy Friendship Day Poems

    Friendship is the best relationship and friends are very rare to find. Friends are God gifted and very rare to find. It is very difficult to find a good friend in life. A good friend will always be with you in your need. A friend can make you cry and laugh at same time. Friendship Day is celebrated among friends by tying a band on each others wrist and wishing Happy Friendship day to each other. Here we are going to share some really emotional and sentimental Friendship Day Poem For Best Friend In Hindi, Happy Friendship Day Poems. happy friendship day wishes for husband, happy friendship day wishes for Facebook, happy friendship day wishes in Hindi, happy friendship day quotes for best friend, funny friendship day wishes to best friend. Hindi poems on friendship for children, Hindi poems on friendship for kids.


    Also Check:


    Happy Friendship Day Poems In Hindi





    Waqt ke tarajoo par
    Zindagi bhi rakh do toh
    Ye dosti kya cheej hai,
    Ye vajan nahi koi
    Ankhiyon ki palko par
    Aansuo ki bowchar bhi laga do toh
    Ye dosti kya cheej hai

    Ye kimat nahi khote
    Gamo ke samandar mein
    Jaan ki kashti bhi duba do toh
    Yeh dosti kya manjeel hai

    Ye cheej nahi khote
    Man ke bageeche se
    Saare ghulab bhi ujaad do toh
    Ye dosti kya pushp hai,

    Ye mahek nahi khoti
    Zindagi ki khitaab mein
    Chahe har panna dukh se bhara ho
    Ye dosti kya saahityeh hai

    Ye anurag nahi hoti
    Jaan na paya koi vairagi
    Kya chamatkar hai tu-e-dosti
    Zindagi insaan ko chahe chhod de
    Tu zindagi ko nahi chhodti


    Must Read:







    सुख-दुख के अफसाने का,
    ये राज है सदा मुस्कुराने का,
    ये पल दो पल की रिश्तेदारी नहीं,
    ये तो फ़र्ज है उम्र भर निभाने का,
    जिन्दगी में आकर कभी ना वापस जाने का,
    ना जानें क्यों एक अजीब सी डोर में बन्ध जाने का,
    इसमें होती नहीं हैं शर्तें,
    ये तो नाम है खुद एक शर्त में बन्ध जाने का,

    ये तो फ़र्ज है उम्र भर निभाने का
    दोस्ती दर्द नहीं रोने रुलाने का,
    ये तो अरमान है एक खुशी के आशियाने का,
    इसे काँटा ना समझना कोई,
    ये तो फूल है जिन्दगी की राहों को महकाने का,
    ये तो फ़र्ज है उम्र भर निभाने का,
    दोस्ती नाम है दोस्तों में खुशियाँ बिखेर जाने का,

    आँखों के आँसूओं को नूर में बदल जाने का,
    ये तो अपनी ही तकदीर में लिखी होती है,
    धीरे-धीरे खुद अफसाना बन जाती है जमाने का,

    ये तो फ़र्ज है उम्र भर निभाने का,
    दोस्ती नाम है कुछ खोकर भी सब कुछ पाने का,
    खुद रोकर भी अपने दोस्त को हँसाने का,
    इसमें प्यार भी है और तकरार भी,



    आखिर तुम क्यों इतने दिल के पास हो
    कोई तो वजह जरूर है जो तुम इतने ख़ास हो

    मेरे दोस्तों में सबसे पहले तुम्हारा ही नाम आता है
    रब की कसम हमारा पिछले कई जन्मों से नाता है

    सिक्स्थ क्लास में रब ने मुझे तुझसे मिलाया था
    और उस मुलाकात में ही तुझे मेरी जिंदगी का हिस्सा बनाया था

    वो वक़्त मैं कैसे भूल जाऊँ
    जो मैंने तुम्हारे साथ बिताया था
    क्यूँकि  तुम्हारी हर एक आदत ने दीवाना जो बनाया था

    उस वक़्त तुम्हारे पास कुछ दोस्त हमसे ख़ास थे
    लेकिन तुम तो हमारे दिल के तब भी पास थे

    642317, ये वो नम्बर है
    जो मैं अक्सर मिलाया करता था
    जब भी तुम्हारी पक-पक सुनने को दिल तरसता था





    Bus yahi dua mangi thi bhagwaan se,

    Dena mujhe hausna ladne ka insaan se,

    Suna tha hoti hai kabool dua har kisi ki,

    Per ye na tha pata kis hogi ye kabool kis roop mein,

    Mangi thi dua bhagwaan se….

    Tab milaya mujhe usne tere se,

    apnaya meine tujhe har haal mein,

    Aur jab poocha tune mujhe kya dia hai…

    kehta hai bhagwaan…. Hausla manga tha…

    Tujhe meine shaitan dia hai..

    ab issi se practice kar.. hausla khud aa jaega





    ज्यादातर तेरे बारे में सोचा करता था
    यहाँ तक की हैंडराइटिंग एक कॉपी किया करता था
    लिखावट तेरी कमाल थी
    और ड्राइंग तो बेमिसाल थी

    तूने भी अपनी दोस्ती तब खूब निभाई
    मेरे हिस्से की ड्राइंग थी जो बनाई
    टीचर भी देख कर समझ लिया करता था
    और मेरी जगह तेरी ही तारीफ़ किआ करता था

    तेरे बिना वक़्त मेरा कहाँ कटा करता था
    शायद इसीलिए कोई अगर तुझसे बात करे
    तो मैं मन ही मन जल करता था
    सच कहूँ तो तू मेरे लिए एक अनजान पहेली थी
    जिसमे उलझने का बार बार मन किया करता था

    आखिर उस पहेली ने ऐसा उलझाया
    कि उलझते हुए भी वो सुलझने लगी
    जो पहेली मेरे दिल के पास थी
    वो मेरी जिंदगी बन गयी

    अब तक की जिंदगी में
    मैंने कई अच्छे दोस्तों का साथ पाया है
    और सब को तेरे बारे में बता बता कर पकाया है
    उन सबको लगता है कि
    तू मेरे लिए बहुत ख़ास है
    और मेरे दिल के पास है

    हकीकत तो यह है कि
    वो सब अच्छे दोस्त मेरे दिल के पास हैं
    और मेरे लिए बहुत ख़ास हैं
    क्योंकि ये तो केवल रब ही जनता है
    कि किसका दिल किसके पास है


    कहीं ना कहीं मैं आज भी तुझपे मरता हूँ
    और कहीं तुखे मुझसे अच्छा कोई न मिल जाये
    इस बात से मन ही मन डरा करता हूँ

    इसी डर में रब से यही दुआ करता हूँ
    की ऐ रब मुझपे एक एहसान जरूर करना
    इस दोस्त को मुझसे कभी जुदा ना करना

    Conclusion

    We have shared some really awesome Friendship Day Poem For Best Friend In Hindi, Happy Friendship Day Poems in our blog. Hope you have liked it. Please do sahre on social networking sites.


    Related Searches:

    Friendship day Quotes
    Friendship day Wishes
    Frienddship day Wallpapers
    Friendship day poems

    Share on Google Plus

    About Nirmala Panda